ॐ ग्लां ग्लीं ग्लूं गं गणपतये नम :

प्रकाशय ग्लूं  गलीं ग्लां  फट् स्वाहा|

विधि :- 

इस मंत्र का जप करने वाला साधक सफेद वस्त्र धारण कर सफेद रंग के आसन पर बैठकर पूर्ववत् नियम का पालन करते हुए इस मंत्र का सात हजार जप करे| जप के समय दूब, चावल, सफेद चन्दन सूजी का  लड्डू आदि रखे तथा जप काल में कपूर की धूप  जलाये  तो  यह मंत्र ,सर्व मंत्रों को  सिद्ध करने  की  ताकत (Power, शक्ति) प्रदान करता

|